मोबाइल फोन चोरी हो गया? उसे भूलना ही है बेहतर

मोबाइल फोन चोरी हो गया? उसे भूलना ही है बेहतर

मोबाइल फोन चोरी हो गया? उसे भूलना ही है बेहतर

आमतौर पर फोन चोरी होने पर लोग बड़ी उम्मीदें लेकर पुलिस के पास जाते हैं और एफआईआर दर्ज कराते हैं। उन्हें उम्मीद होती है कि फोन के आईएमईआई नंबर से उनका फोन ट्रेस हो जाएगा और उन्हें मिल जाएगा, लेकिन असल में आपके फोन का यह यूनीक नंबर बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है।

हाइलाइट्स

  • फोन चोरी होने पर उसका वापस मिलना मुश्किल, IMEI नंबर बदल देते हैं चोर
  • सिर्फ कुछ महंगे फोन में ही IMEI नंबर होते हैं टैंपरप्रूफ, बदलने में लगते हैं 5 मिनट
  • कुछ सालों पहले तक माना जाता था कि IMEI नंबर से छेड़छाड़ नहीं हो सकती
  • IMEI नंबर अब बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं, सॉफ्टवेयर के जरिए इसे बदलना आसान

 

हुबली

हुबली-धारवाड़ इलाके में आए दिन लोगों के फोन चोरी होते हैं। फोन चोरी होने पर लोग बड़ी उम्मीदें लेकर पुलिस के पास जाते हैं और अपने फोन का आईएमईआई नंबर देकर रिपोर्ट दर्ज करवाते हैं। उन्हें उम्मीद होती है कि इस नंबर की मदद से उनका फोन ट्रेस हो जाएगा और उन्हें मिल जाएगा, हालांकि यह कुछ सालों पहले तक ही संभव था।

अब आपके फोन का यह यूनीक नंबर बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। इसे एक सॉफ्टवेयर के जरिए आसानी से बदला जा सकता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कई हैकर्स हैं जो यह काम करते हैं।

मोबाइल फोन शोरूम चलाने वाले जगदीश ठाकुर कहते हैं, ‘किसी फोन का आईएमईआई नंबर एक यूनीक नंबर होता है और माना जाता है कि इससे छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। हालांकि आज इसे आसानी से बदला जा सकता है। इसे बदलने में सिर्फ पांच मिनट लगते हैं। एक बार आईएमईआई नंबर बदला, तो फिर पुराने नंबर की मदद से उस फोन को ट्रेस कर पाना असंभव है।’

‘सेकंड हैंड के नाम पर बेच देते हैं चोरी के फोन’
इंजिनियर संतोष देराबे ने कहा कि कुछ बेहद महंगे फोन्स में ही दिए गए आईएमईआई नंबर ही टैंपरप्रूफ होते हैं। उन्होंने कहा, ‘हुबली में कई दुकानदार हैं जो लोगों को यह बताकर फोन बेचते हैं कि यह सेकंड हैंड फोन है। मगर वह चोरी किया हुआ फोन भी हो सकता है जिसका आईएमईआई नंबर बदल दिया गया हो।’

डीसीपी बी एस नेमगौड़ा ने कहा, ‘चोर आमतौर पर भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे- बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और मार्केट में यह कहकर फोन बेचते हैं कि उनके पैसे कहीं गिर गए हैं और वे मजबूरी में बेच रहे हैं। कई महंगे फोन में आईएमईआई नंबर फूलप्रूफ होते हैं, ऐसे ही अगर सारे फोन में होने लगे तो मोबाइल चोरी के मामलों में कमी लाई जा सकती है।’

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account