राहुल छत्तीसगढ़ की जनता के लिए ‘मनोरंजन’ हैं, राज्य के बारे में कुछ नहीं जानते: रमन सिंह का यह वक्तव्य सत्ता के प्रति क्या लालसा नही है

राहुल छत्तीसगढ़ की जनता के लिए ‘मनोरंजन’ हैं, राज्य के बारे में कुछ नहीं जानते: रमन सिंह का यह वक्तव्य सत्ता के प्रति क्या लालसा नही है

राहुल छत्तीसगढ़ की जनता के लिए ‘मनोरंजन’ हैं, राज्य के बारे में कुछ नहीं जानते: रमन सिंह का यह वक्तव्य सत्ता के प्रति क्या लालसा नही है

अब्दुल सलाम कादरी एडिटर

बीबीसी लाइव-

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 में सोमवार को पहले चरण का मतदान है। नेताओं ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है और सियासी बयानबाजी से प्रदेश का राजनीतिक पारा चढ़ गया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के बाद सिंह ने पलटवार करते हुए गांधी के चुनाव प्रचार को राज्य के लिए मनोरंजन करार दिया।

रमन सिंह ने शनिवार को कहा कि राहुल गांधी प्रदेश में लोगों के लिए “एक प्रकार के मनोरंजन हैं” और उनका चुनाव प्रचार करना उनकी अपनी ही पार्टी के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है।

सिंह ने राज्य में सोमवार को होने जा रहे प्रथम चरण के मतदान से पहले कहा कि राहुल छत्तीसगढ़ के बारे में कुछ नहीं जानते और उनकी रैलियां कांग्रेस को कोई खास वोट हासिल करने में मदद नहीं करेगी।

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को आरोप लगाया था कि सिंह भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं और कोई भी काम अपने 10-15 उद्योगपति मित्रों से इजाजत लेने के बाद ही करते हैं। इसके एक दिन बाद सिंह ने पीटीआई-भाषा को दिए एक साक्षात्कार में उन पर पलटवार किया है।

छत्तीसगढ़ के 18 साल के इतिहास में पिछले 15 साल से इस आदिवासी बहुल राज्य के मुख्यमंत्री रहे सिंह ने कहा कि राज्य में राहुल की मौजूदगी भाजपा की चुनावी संभावनाओं को प्रभावित नहीं करेगी, बल्कि यह उनकी अपनी ही पार्टी (कांग्रेस) के लिए नुकसानदेह साबित होगी।

अपने पार्टी अध्यक्ष पर किए गए तंज के बाद कांग्रेस की ओर से फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं आई है। देश में चुनावी खुमार छाने के बीच विभिन्न दल अक्सर की व्यक्तिगत टीका – टिप्पणी किया करते हैं।

भाजपा नीत केंद्र सरकार और विभिन्न राज्यों में भगवा पार्टी की सरकारों पर पूंजीपतियों से सांठगांठ रखने का कांग्रेस आरोप लगा रही है। राहुल ने छत्तीसगढ़ सहित पांच चुनावी राज्यों के लिए आक्रामक चुनाव अभियान शुरू किया है। दरअसल, इन चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए सेमीफाइनल के तौर पर देखा जा रहा है।

हालांकि, भगवा पार्टी ने इन आरोपों से इनकार किया है और आरोप लगाया कि कांग्रेस अतीत में जब सत्ता में थी, उस वक्त वह भ्रष्टाचार में संलिप्त रही थी और पूंजीपतियों से सांठगांठ रखती थी।
विज्ञाप

“हमने नक्सलियों को निष्प्रभावी कर दिया है”

छत्तीसगढ़ में राहुल काफी सक्रियता के साथ चुनाव प्रचार कर रहे हैं। राज्य में दो चरणों में — 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान होगा। प्रथम चरण में नक्सल प्रभावित 12 इलाकों सहित 18 सीटों पर वोट डाले जाएंगे, जबकि दूसरे चरण में शेष 72 सीटों पर मतदान होगा।

सिंह के विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव में भी सोमवार को मतदान होगा। वहां कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करूणा शुक्ला को टिकट दिया है।

मुख्यमंत्री की कुर्सी चौथी बार हासिल करना चाह रहे सिंह ने कहा कि कांग्रेस के दावों के उलट छत्तीसगढ़ ने हर मोर्चे पर विकास किया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा के 15 साल के शासन में यह एक विकसित राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि हम जल्द ही देश के पांच शीर्ष विकसित राज्यों में शामिल हो जाएंगे।

यह पूछे जाने पर कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी नीत जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बसपा के बीच गठजोड़ से क्या भाजपा के वोटों में कमी आएगी, सिंह ने कहा कि “स्वार्थी गठबंधन” होने के बावजूद भाजपा का वोट प्रतिशत नहीं घटेगा।

नक्सलवाद की समस्या पर सिंह ने कहा कि राज्य में माओवादी आखिरी सांसे गिन रहे हैं। उन्होंने कहा, “हमने नक्सलियों को निष्प्रभावी कर दिया है।”

भाजपा के 66 वर्षीय नेता 1980 के दशक में राजनीति में आने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सा के पेशे में थे। राज्य के गठन के करीब तीन साल बाद भाजपा ने कांग्रेस से सत्ता छीन ली, जिसके बाद वह दिसंबर 2003 में राज्य के मुख्यमंत्री बने थे।

वर्ष 2013 के चुनाव में भाजपा को 49 सीटें और कांग्रेस को 39 सीटें मिली थी। बसपा को सिर्फ एक सीट मिली थी जबकि एक सीट निर्दलीय के खाते में गई थी। (इनपुट:भाषा)

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account