ब्रेकिंग न्यूज़ उमरिया-बांधवगढ टाइगर रिजर्व के धमोखर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत फिर मिला बाघ का शव पार्क प्रबंधन मौके पर ।

ब्रेकिंग न्यूज़ उमरिया-बांधवगढ टाइगर रिजर्व के धमोखर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत फिर मिला बाघ का शव पार्क प्रबंधन मौके पर ।

ब्रेकिंग न्यूज़ उमरिया-बांधवगढ टाइगर रिजर्व के धमोखर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत फिर मिला बाघ का शव पार्क प्रबंधन मौके पर ।

उमरिया मध्यप्रदेश
*अखिलेश सेन-

(बीबीसी लाइव संवाददाता उमरिया)
*पूर्व विधायक के बाड़े में मिला मृत युवा बाघ*
धमोखर रेंज अंतर्गत नागेंद्र सिंह पूर्व विधायक गुढ़ के एक सौ दस एकड़ में फैले बाड़े में संदिग्ध अवस्था मे तकरीबन पौने दो वर्ष के युवा बाघ की मौत हुई है।पार्क प्रबन्धन की माने तो मृत नर बाघ टी 16 का शावक था,जो पिछले कई दिनों से क्षेत्राधिकार के लिए अपनी उम्र से चार गुना बड़े टी 6 युवा नर बाघ से फाइटिंग कर रहा था।बताया जाता है कि घटना के दो दिन पहले बाघों के झुंड ने इसी बाड़े के करीब गौरैया नाले के पास चित्तल का शिकार भी किया था,कयास लगाए जा रहे है कि इसी शिकार को लेकर दोनों युवा बाघों में फइटिंग हुई है,जिसके बाद टी 16 की मौत हुई है।
*करीब दो दिनों पहले बाघ की हुई है मौत*
टी 16 के शावक बाघ की संदिग्ध अवस्था मे हुई मौत से फाइटिंग के अलावा भी असामयिक मौत के कई कयास लगाए जा रहे है,दरअसल मृत बाघ के गले मे गम्भीर घाव है,साथ ही बाघ का पिछला हिस्सा भी गम्भीर रूप से चोटिल है इसके अलावा मृत बाघ के शरीर मे जबरदस्त कीड़े देखे गये है,जिससे ये साफ जाहिर होता है कि युवा बाघ की मौत कई घण्टे पहले हुई है,और घटना के कई घण्टे बाद प्रबन्धन को इसकी जानकारी मिल सकी है।
*शिकार की सम्भावनाओ से किया इनकार*
पार्क डाइरेक्टर मृदुल पाठक ने शिकार की संभावनाओं को सिरे से खारिज किया है,पर शव की हालत देखकर यह कह पाना मुश्किल होगा कि युवा बाघ की मौत की वजह सिर्फ इंटरनल फाइट ही है।युवा बाघ के गले एवम पिछले हिस्से में जिस तरह गम्भीर रूप से घाव के निशान है,और मांस का बड़ा हिस्सा फटा हुवा है उससे शिकार होने की सम्भावनाओ से भी इंकार नही किया जा सकता,हालांकि मौत की जो भी वजह होगी वह पीएम रिपोर्ट उपरांत ही साफ हो सकेगा।फिलहाल युवा बाघ की मौत के बाद पार्क प्रबन्धन ने घटना स्थल से शव को अन्यत्र मरदरी गेट के साफ सुथरे इलाके में ले जाकर आवश्यक कार्यवाही कर अंतिम संस्कार किया है।
*बुधवार को बाघों के बीच दो दिनों तक हुई थी इंटनल फाइट*
घटना को लेकर बीटीआर फील्ड डाइरेक्टर ने बताया कि बुधवार को बाघों के फाइटिंग की जानकारी मिली थी,जिसके बाद बाघों के झुंड को बुधवार की देर रात तक वन क्षेत्र में हाथियों की मदद से सक्रिय बाघों को खदेड़ा गया था।गुरुवार को पुनः इन बाघों की क्षेत्र में लोकेशन की जानकारी मिली थी,जिसके बाद वन कर्मियों को कड़ाई से निगरानी करने निर्देशित किया गया था।शनिवार की सुबह बाघ के मौत की जानकारी मिली जिसके बाद घटना स्थल पहुंचकर मृत बाघ को देखने से प्रथम द्रष्टया यही प्रतीत हो रहा है कि युवा बाघ की मौत की मुख्य वजह इंटरनल फाइट है।
*अभी भी क्षेत्र में ये बाघ है सक्रिय*
पार्क अधिकारियों की माने तो घटना स्थल क्षेत्र में मृत युवा बाघ के अलावा टी 16 के तीन और भी शावक अक्सर सक्रिय दिखते है,इनके अलावा तकरीबन 9 वर्षीय टी 6,टी 23 एवम अपने तीन शावकों के साथ धमोखर टाइग्रेस भी अक्सर इस क्षेत्र में वन्य प्राणियों का शिकार कर सक्रिय होती है।बाघ की मौत के बाद क्षेत्र में बाकी सक्रिय बाघों की सुरक्षा को लेकर प्रबन्धन गम्भीर है इस वजह से पार्क अमले को क्षेत्र में हाथियों की मदद से और अधिक गम्भीरता से निगरानी रखने निर्देशित किया गया है।

धमोखर रेंज अंतर्गत नर बाघ के मौत की घटना प्रकाश में आई है।बताया जाता है कि टोल प्लाजा के समीप पूर्व विधायक जी नागेंद्र सिंग जी का बाड़ा है बाड़े के अंदर नर बाघ की मौत हुई है,बाघ की किन परिस्थितियों में मौत हुई है,इस सम्बंध में आवश्यक जानकारी जुटाई जा रही है।
*मृदुल पाठक क्षेत्र संचालक , बांधवगढ टाइगर रिजर्व उमरिया*

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account