आज रात 11.54 बजे से शुरू होगा सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण, भारत समेत दुनियाभर में दिखेगा

आज रात 11.54 बजे से शुरू होगा सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण, भारत समेत दुनियाभर में दिखेगा

आज रात 11.54 बजे से शुरू होगा सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण, भारत समेत दुनियाभर में दिखेगा

31 जनवरी 2018 के बाद इस साल दूसरी बार पूर्ण चंद्रग्रहण की स्थिति बनेगी

longest total lunar eclipse of the century today

आज रात 11.54 बजे से शुरू होगा सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण, भारत समेत दुनियाभर में दिखेगा

 

– 27 जुलाई को चंद्रमा अपनी कक्षा में पृथ्वी से सबसे ज्यादा दूरी पर होगा

– भारत में अगला पूर्ण चंद्रग्रहण 31 दिसंबर 2028 को दिखाई देगा

 

नई दिल्ली.  इस सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण शुक्रवार रात को होगा। इस दौरान 1 घंटा 43 मिनट तक चंद्रमा लाल दिखाई देगा, इसे ‘ब्लड मून’ भी कहा जाता है। इस खगोलीय घटना को भारत समेत कई देशों में देखा जा सकेगा। भारत में यह रात 11 बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा।

खगोल वैज्ञानिकों के मुताबिक, 27 जुलाई को चंद्रमा अपनी कक्षा में पृथ्वी से सबसे ज्यादा दूरी पर होगा, इस स्थिति को लूनर एपोजी कहा जाता है। पृथ्वी और चंद्रमा के बीच ज्यादा दूरी की वजह से ग्रहण भी देर तक रहेगा। इस साल 31 जनवरी को भी पूर्ण चंद्रग्रहण था। तब इसकी अवधि 1 घंटा 40 मिनट थी। सदी का सबसे छोटा चंद्रग्रहण 4 अप्रैल 2015 को हुआ था। इसका ग्रहण काल सिर्फ 4 मिनट 48 सेकंड था। अब 31 दिसंबर 2028 को अगला पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। इससे पहले जुलाई 2000 और जून 2011 में भी पूर्ण चंद्रग्रहण हो चुके हैं।

 

क्यों होता है चंद्रग्रहण : सूर्य की परिक्रमा करते हुए पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है। तब पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है इसे चंद्रग्रहण कहते हैं। पृथ्वी की छाया में चंद्रमा ढंक जाने पर पूर्ण चंद्रग्रहण होता है।

 

दुनिया के इन इलाकों में दिखेगा : पूर्ण चंद्रग्रहण यूरोप, एशिया के ज्यादातर देशों, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और आसपास के देशों, उत्तरी अमेरिका, प्रशांत क्षेत्र, अटलांटिक, भारतीय महासागर और अंटार्कटिका में दिखाई देगा।

 

चार दिन बाद एक और खगोलीय घटना : 31 जुलाई को मंगल ग्रह पृथ्वी के करीब आएगा। तब दोनों ग्रहों के बीच दूरी 5.76 करोड़ किलोमीटर होगी। इस दौरान लाल ग्रह दोगुना बड़ा दिखाई देगा। दोनों ग्रह 15 साल पहले 2003 इतने करीब आए थे। तब इनके बीच की दूरी 5.57 करोड़ किलोमीटर थी। इसके बाद यह नजारा 6 अक्टूबर 2020 को दिखाई देगा। तब इन ग्रहों के बीच की दूरी 6.176 करोड़ किलोमीटर होगी।

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account