ताजा खबर :

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे पर नाबालिग से यौन शोषण का आरोप, गिरफ्तारी नहीं

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे पर नाबालिग से यौन शोषण का आरोप, गिरफ्तारी नहीं

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे पर नाबालिग से यौन शोषण का आरोप, गिरफ्तारी नहीं

इस मामले में आरोपी की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है, वहीं पीड़िता का कहना है कि जब उसके साथ यौन शोषण हुआ तो वो नाबालिग थी.

Last Updated: 09 Jul 2018 07:55 AM

अब्दुल सलाम कादरी बीबीसी लाइव-
रायपुर: छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे शमोध पैकरा पर एक नाबालिग लड़की ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. पीड़िता का कहना है कि शमोध पैकरा ने उसके साथ शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए फिर गर्भवती होने के बाद उसे छोड़ दिया और शादी करने से मुकर गया. अब ये पीड़िता अपने ढाई साल के बच्चे के साथ इंसाफ के लिए दर-दर ठोकर खा रही है.

आरोपी की नहीं हुई गिरफ्तारी

इतना ही नहीं, जब पीड़ित ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया तो उसे जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. इस मामले में आरोपी की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है, वहीं पीड़िता का कहना है कि जब उसके साथ यौन शोषण हुआ तो वो नाबालिग थी और ये सब होने के बाद उसका परिवार डर के माहौल में जीने को मजबूर है.

Chhattisgarh: Woman was allegedly raped in Surajpur, says, ‘We used to study together. He exploited me sexually & said that he’ll marry me, but didn’t. I got pregnant. He’s Home Minister’s nephew’ SP G.Jaiswal says, ‘we’ve registered an FIR & are investigating the case’ (8.7.18) pic.twitter.com/x6xcX8UohW

— ANI (@ANI) July 9, 2018

मामला दर्ज लेकिन गिरफ्तारी नहीं

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि महिला ने अपनी शिकायत में शमोध पैकरा के बच्चे की मां होने का दावा किया जो कि अब 30 महीने का हो गया है. महिला ने शिकायत में आरोप लगाया कि उसके गर्भवती होने के बाद वह उससे विवाह करने के अपने वादे से मुकर गया. सूरजपुर के पुलिस अधीक्षक गिरिजाशंकर जायसवाल ने कहा , ‘‘ उसकी शिकायत के आधार पर पुलिस ने शमोध पैकरा (24) के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के तहत चेंद्रा पुलिस थाने में छह जुलाई को एक प्राथमिकी दर्ज की.’’

पुलिस अधीक्षक ने कहा ,‘‘ जरूरत पड़ने पर (आरोपी के खिलाफ) प्रासंगिक धाराएं जोड़ी जाएंगी.’’ पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि महिला की शिकायत के अनुसार वह सूरजपुर जिले की रहने वाली है और 2014 में चेंद्रा में रहकर अपनी स्कूली शिक्षा ग्रहण कर रही थी. उन्होंने कहा कि शमोध ने उससे दोस्ती की और कथित रूप से विवाह का वादा करके उसका कई बार यौन उत्पीड़न किया. अधिकारी ने कहा कि महिला के दावों का पता लगाने के लिए जांच जारी है.

क्या आरोपी को बचा रही है रमन सरकार?
सवाल उठता है कि क्या आरोपी को मिली राजनीतिक शरण के चलते उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पा रही या फिर छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार महिलाओं को न्याय दिलाने में पूरी तरह फेल है?

रिपोर्ट-अब्दुल सलाम कादरी

बीबीसी लाइव

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account