ताजा खबर :

रमजान 2018: कल सवा पंद्रह घंटे का रोजा, आखिरी सबसे लंबा

रमजान 2018: कल सवा पंद्रह घंटे का रोजा, आखिरी सबसे लंबा

रमजान 2018: कल सवा पंद्रह घंटे का रोजा, आखिरी सबसे लंबा

मुरादाबाद-

11:20 PM 16/05/18

इस बार रमजान में पारा चालीस डिग्री के पार होगा और सभी रोज़े पंद्रह घंटे से ऊपर होंगे। मुकद्दस रमजान का चांद नजर आते ही तरावीह का सिलसिला शुरू हो गया है। गुरुवार से रोज़े शुरू हो जाएंगे। पहला रोजा सवा पंद्रह घंटे का होगा। सभी रोज़े पंद्रह घंटे से अधिक समय के ही होंगे। पिछली बार की तुलना में इस बार रोजे के समय में पंद्रह मिनट का फर्क आया है। इस बार आखिरी रोजा सबसे ज्यादा वक्त का होगा। जिसकी अवधि 15 घंटे 42 मिनट होगी। रमजान में पारा 44 डिग्री तक पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है।

मुश्किल से दिखा चांद

बुधवार को रमजान मुबारक के चांद की तस्दीक काफी देर में जाकर हो सकी। चांद की दृश्यता केवल 29 सेकेंड रही। वैसे माना जा रहा था कि शाम को 7.02 बजे से 07.04 के बाद चांद दिखाई देगा। रात नौ बजे के आसपास चांद का ऐलान हुआ। चांद दिखने के साथ ही मस्जिदों में तरावीह का सिलसिला शुरू हो गया है। गुरुवार से रोज़े होंगे।

पड़ सकते हैं पांच जुमे

17 मई से रमजान का आगाज हुआ है और यदि तीस दिन का चांद हुआ तो इस बार रमजान के महीने में पांच जुमा पड़ सकते हैं। माह-ए-रमजान में ये जुमे दूसरे रोजे 18 मई, नौंवा रोजा 25 मई, सोलहवां रोजा 01 जून, तेइसवां रोजा 08 जून और तीसवां रोजा 15 जून को पड़ेगा।
अलविदा रोजा होगा सबसे लंबा

रमजान में आखिरी जुमा का खास महत्व है। आने वाले रमजान में अलविदा का रोजा 939 या 942 मिनट का हो सकता है। 17 मई से रमजान शुरू होने पर अलविदा आठ या पंद्रह जून को पड़ सकता है। यदि आठ जून को पड़ता  है तो सहरी 3.36 और इफ्तार 7.15 पर होगा। तीसवें रोजे की स्थिति में सहरी 3.36 और इफ्तार 7.18 पर होगा। यह रमज़ान मुबारक का सबसे लंबी अवधि वाला रोजा होगा।

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account