अजित जोगी को सुप्रीम कोर्ट से झटका-सरकारी आवास खाली करने का आदेश

अजित जोगी को सुप्रीम कोर्ट से झटका-सरकारी आवास खाली करने का आदेश

अजित जोगी को सुप्रीम कोर्ट से झटका-सरकारी आवास खाली करने का आदेश

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सुप्रीमो अजीत जोगी का दिल्ली से बोरिया बिस्तर बंध गया है। उन्होंने दिल्ली स्थित सरकारी आवास को खाली कर दिया है। अब वे राजधानी रायपुर में पत्नी और कोटा विधायक डॉ रेणु जोगी के आवास में रहेंगे।

सुप्रीम कोर्ट फैसले के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी आवास खाली करना पड़ रहा है। जोगी को दिल्ली में दो साल पहले केन्द्र की मोदी सरकार से नार्थ एवेन्य में 117  नंबर का आवास मिला था। इसके अलावा उन्हें रायपुर में सागौन बंगला आवंटित किया गया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सागौन बंगला भी इस दायरे में आ गया है। हालांकि दिल्ली के सरकारी आवास को छोड़ने के मसले पर उन्होंने कहा कि अब उनकी दिल्ली की राजनीति खत्म हो गई है। वे छत्तीसगढ़ियों को अधिकार दिलाने के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। लिहाजा, दिल्ली जाकर वह अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहते है। इसलिए दिल्ली स्थित सरकारी क्वार्टर खाली कर रहे है।



जोगी को राजधानी में आवंटित सागौन बंगला सुप्रीम कोर्ट के आदेश के परिपालन में छोड़ना पड़ सकता है, लेकिन इसकी नौबत नहीं आएगी। जोगी की पत्नी डॉ रेणु जोगी और पुत्र अमित जोगी विधायक हैं और इस नाते दोनों राजधानी में सरकारी आवास के लिए पात्र हैं, जबकि उन्होंने इसका लाभ नहीं लिया है। ऐसे में सागौन बंगला रेणु जोगी के नाम से अलॉट किया जा सकता है। इस स्थिति में वे अब पत्नी के निवास में रहेंग।
उधर, दिल्ली का आवास खाली करने के मसले पर बीजेपी का कहना है कि जोगी की पार्टी में विजन और नेताओं की कमी है। इसलिए दिल्ली से राजनीति छोड़ने की बात कह रहे है। वही कांग्रेस ने कहा है कि जोगी कहां रहते है कांग्रेस को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। बल्कि महत्वपूर्ण यह है कि रेणु जोगी कहां रहती है। जो फिलहाल अभी हमारे पार्टी में है।

बीबीसी लाईव

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account